♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई ताजिया है एकता की मिसाल

कलाम कुरैशी मंडल ब्यूरो चीफ झासी

वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई ताजिया है एकता की मिसाल

झाँसी यौमे असूरा (मोहर्रम) के पर्व पर वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई ताजिया इमामबाड़ा समिति रानी महल झाँसी के पदाधिकारी व सदस्य अध्यक्ष अब्दुल रशीद मन्सूरी के नेतृत्व में मोहरम की पाँच तारीख को प्राचीन परम्परानुसार रानी महल पर ताजिया स्थापित करने के समय बाई साब ताजिया के संरक्षक श्री तुलसी राम पाण्डे शहर कोतवाल गहन चर्चा की गई। एस.पी. ग्रामीण श्री नेपाल सिंह से शहर में ताजिया भ्रमण को लेकर गहन चर्चा की गई। बाईसाब के ताजिया की स्थापना रात 8.30 बजे परंपरानुसार शहर कोतवाल तुलसीराम पाण्डे के संरक्षण व अध्यक्ष अञ्दुल रशीद मंजूरी व पदाधिकारियों – सदस्यों की मौजूदगी में की गई। अकीदत मन्दों ने इम्मामसाहब की याद में भी ताजिया पर लोभान, अगरबती जलाकुर फतिष दरुद पढ़ी | मिठ्ठान व लंगर वितरण किया गया। इस मौके पर कार्यवाहक अध्यक्ष मनोज रेजा, महामंत्री शमीम खान एडवोकेट, डॉ. मनमोहन मनु, पार्षद अब्दुल, जाबिर, पत्रकार कलाम कुरैशी बबलू रमैय्या, सुदर्शन शिवहरे (राष्ट्रीय उपाध्य जुनैद कुरैशी, बट्स गुरु , बसीम अहमद, मनोज कुमार फरमान खान, इरशाद पहलवान, राजा खान, सलीम मंसूरी, रज्जव, . अफरोज, मुकेश सिंघल प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। झाँस शहर की अवाम को अवगत कराना है कि का ताजिया (पछले 170 सालों से महारानी झाँसी के हिन्दू-मुस्लिम कौमी एकता के मिसाल के तौर पर संजाया जा रहा है जिसमें सभी धर्मो
लोगों की आस्था है और यहां सभी जन एकजुट “होकर कार्यक्रम को सफल बनाते है


व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें



स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

[responsive-slider id=1811]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Success Care Technology +91 77829 40965